मोदी तो सिर्फ ढाई साल से सत्ता में है, 60 साल सत्ता में रहने वाले उनसे हिसाब मांगते है

1995

कांग्रेस ने भारत की जनता को आज भी 1947 की जनता समझा हुआ है
जिसे आसानी से मुर्ख बनाया जा सकता हो, पर कांग्रेस भूली हुई है की ये 1947 का जमाना नहीं चल रहा बल्कि ये जमाना है 2017 का
आज भी राहुल गाँधी फटा कुर्ता दिखाएंगे, जैसे उनकी दादी ने फटी साड़ी दिखाई थी, तो वो राजनीती अब
चलने वाली नहीं है
.
मनमोहन सिंह कहते है की, 60% गाँव में बैंक नहीं है, और मोदी डिजिटल बैंकिंग की बात करते है
चिदंबरम कहते है की 90% गाँव में तो इन्टरनेट ही नहीं है
वहीँ पप्पू जी का कहना है की, 50% लोग तो अभी भी गरीब है, मोदी को अमीरों की छोड़कर
गरीबों के बारे में सोचना चाहिए

यहाँ ये चीज नोट करने वाली है की, नरेंद्र मोदी तो सत्ता में केवल ढाई सालों से ही है
उनको प्रधानमंत्री बने हुए, देश की सत्ता में आये हुए समय ही कितना हुआ है, और कांग्रेसी नेता नरेंद्र मोदी को
सारी समस्याओं के लिए जिम्मेदार कैसे ठहरा सकते है

बड़ी चीज तो ये है की, 70 सालों में लगभग 60 साल देश की सत्ता पर तो यही कांग्रेस और उसके लोग ही
रहे है, भारत में आजतक इतने आभाव है, उसके लिए नरेंद्र मोदी जिम्मेदार है या 60 साल
सत्ता में रहने वाली कांग्रेस

जहाँ आज चीन के हर गाँव में बिजली है, जबकि चीन भारत से बड़ा देश है
चीन के हर गाँव में इन्टरनेट है, बैंक है, वहीँ भारत की स्तिथि इतनी ख़राब है, उसके लिए ढाई सालों से सत्ता में रहने वाले नरेंद्र मोदी जिम्मेदार है या कांग्रेस, ये कांग्रेस के नेता और उनके समर्थक स्वयं तय करे