IPC Section 100 in hindi – The Indian Penal Code – IPC की धारा 100

455

IPC Section 100 in hindi

100 IPC in hindi – IPC Section 100 in hindi – भारतीय दंड संहिता की धारा 100 के अनुसार, शरीर की निजी प्रतिरक्षा के अधिकार का विस्तार, पूर्ववर्ती धारा में वर्णित बंधनों के अधीन रहते हुए, हमलावर की स्वेच्छा पूर्वक मॄत्यु कारित करने या कोई अन्य क्षति कारित करने तक है, यदि वह अपराध, जिसके कारण उस अधिकार के प्रयोग का अवसर आता है, एतस्मिनपश्चात निम्न प्रगणित भांतियों में से किसी भी भांति का है।

• ऐसा हमला जिससे यथोचित रूप से यह आशंका कारित हो कि अन्यथा ऐसे हमले का परिणाम मॄत्यु होगा।
• ऐसा हमला जिससे यथोचित रूप से आशंका कारित हो कि अन्यथा ऐसे हमले का परिणाम घोर क्षति होगा।
• बलात्संग करने के आशय से किया गया हमला।
• प्रकॄति-विरुद्ध काम-तॄष्णा की तॄप्ति के आशय से किया गया हमला।
• व्यपहरण या अपहरण करने के आशय से किया गया हमला।
• इस आशय से किया गया हमला कि किसी व्यक्ति का ऐसी परिस्थितियों में अनुचित रूप से प्रतिबंधित किया जाए, जिनसे उसे यथोचित रूप से यह आशंका कारित हो कि वह अपने को छुड़वाने के लिए लोक प्राधिकारियों की सहायता प्राप्त नहीं कर सकेगा।
• तेजाब फेकने का कार्य या प्रयास करना जिससे यथोचित रूप से आशंका कारित हो कि अन्यथा ऐसे कृत्य का परिणाम घोर क्षति होगा। (आपराधिक कानून (संशोधन) अधिनियम, 2013)

किसी की मॄत्यु कारित करने पर शरीर की निजी प्रतिरक्षा का अधिकार

IPC की धारा 100 की सजा और जमानत 

  1. किसी प्रकार के सजा का प्रावधान नहीं है।

क्या आप पर आईपीसी धारा- 100 का आरोप है?
बेल के लिए सलाह हेतु 8112333133 पर कॉल करें – सलाह की फीस 250रु से शुरू

IPC Section 100 in English

100 IPC in english – IPC Section 100 in english – The right of private defence of the body extends, under the restrictions mentioned in the last preceding section, to the voluntary causing of death or of any other harm to the assailant, if the offence which occasions the exercise of the right be of any of the descriptions hereinafter enumerated.

right of private defence of the body extends to causing death

IPC Section 100 Punishment & Bail 

  1. There is no provision of punishment.

इन धाराओं के बारे में भी जाने-