IPC Section 325 – The Indian Penal Code – भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325

167

Central Government Act IPC Section 325 in The Indian Penal Code

Punishment for voluntarily causing grievous hurt- Whoever, except in the case provided for by section 335, voluntarily causes grievous hurt, shall be punished with imprisonment of either description for a term which may extend to seven years, and shall also be liable to fine.

क्या आप पर आईपीसी धारा- 325 का आरोप है?
बेल के लिए सलाह हेतु 8112333133 पर कॉल करें – सलाह की फीस 250रु से शुरू

भारतीय दंड संहिता (IPC) की  धारा-325

धारा 335 द्वारा प्रदान किए गए मामले को छोड़कर जो कोई भी किसी दूसरे व्यक्ति को स्वेच्छापूर्वक गंभीर चोट पहुचाता है तो उसे किसी एक अवधि के लिए कारावास की सजा जिसे सात वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है, और साथ ही वह आर्थिक दंड के लिए भी उत्तरदायी होगा। यह एक जमानती, संज्ञेय अपराध है और किसी भी मजिस्ट्रेट द्वारा विचारणीय है एवं यह अपराध पीड़ित व्यक्ति (जिसको चोट पहुँची है) के द्वारा समझौता करने योग्य है।