यूपी एग्जिट पोल : जानिए यूपी एग्जिट पोल के ताजा सर्वे के अनुसार किसकी बन रही है सरकार

1281

.

मतदान के बाद और नतीजों से पहले एक्जिट पोल से अनुमानित नतीजे सामने आते हैं। खास बात ये है कि ये एक्जिट पोल परिणामों की उत्सुकता को बढ़ाने का काम करते हैं। कुछ ही देर बाद एक्जिट पोल शुरू हो जाएंगे। यहां आपकों सभी एक्जिट पोल की लाइव जानकारियां मिलती रहेंगी।

मुलायम सिंह यादव की अगुवाई में समाजवादी पार्टी ने बहुजन समाज पार्टी की मायावती की सरकार से कुर्सी छीन ली थी. पिछले करीब 15 वर्षों से बीजेपी ने यूपी विधासभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था. यूपी में इस बार के चुनाव से पहले तो सभी पार्टियां अपने-अपने बहुमत को लेकर आश्वस्त दिख रही थी. चुनाव से पहले आये अलग-अलग ओपिनियन सर्वे भी अलग-अलग पार्टी को जीत हासिल करते हुए दिखा रहे थे. लेकिन जिस तरह से बीजेपी ने इस चुनाव में अपनी ताकत झोंकी है. पीएम मोदी की अगुवाई में लगभग उनका पूरा मंत्रीमंडल चुनाव के रण में उतर कर बीजेपी के प्रचार में लग गया, उसके बाद से स्थितियां काफी बदल गयी हैं.

एक ओर हैं अखिलेश जिन्होंने कांग्रेस के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ा है और यादव और मुस्लिम वोटबैंक के सहारे चुनावी नैय्या पर लगाने की कोशिश की है वहीँ दूसरी ओर मायावती ने सबसे ज्यादा टिकट इस बार मुसलामानों को देकर दलित-मुस्लिम समीकरण पर अपना दांव लगाया है.

अंतिम चरण के मतदान के बाद हुए सर्वे के आधार पर बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिलता दिखाई देने लगा है. मतदान से पहले और मतदान के बाद के वोटरों के रुझान में काफी अंतर देखने को मिला है. सबसे बड़ा अंतर ओड्शा और महाराष्ट्र के स्थानीय निकाय चुनावों में बीजेपी के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद से देखने को मिला है. वहीँ काशी में पीएम मोदी के रोड शो के बाद भी वोटरों के रुझान में काफी फर्क देखने को मिला है.

द फाइनेंशियल एक्सप्रेस में छपी रिपोर्ट के मुताबिक़ यूपी की 403 सीटों में से सपा-कांग्रेस गठबंधन को केवल 78 सीट्स मिलती दिखाई दे रहीं हैं. वहीँ बसपा को केवल 8 सीटों के साथ ही संतोष करना पडेगा और राज्य में 317 सीटों पर बीजेपी जीत का परचम लहराती हुई दिख रही है. यानी बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिलता दिखाई दे रहा है.

बीजेपी को नोटबंदी से फायदा होता दिखाई दे राह है. जैसा कि अनुमान लगाया जा रहा था कि नोटों को बदलवाने के लिए लाइनों में खड़े लोग बीजेपी को वोट देने के लिए लाइनों में खड़े अहि होंगे, उसके ठीक उलट लोगों ने कालेधन के खिलाफ चलाई पीएम मोदी की इस मुहिम को समझते हुए बीजेपी के पक्ष में वोट डाले हैं.

वहीँ चुनावों के बाद हुए सर्वे को देख बीजेपी में भी ख़ुशी की लहर दौड़ गयी है. दशकों बाद बीजेपी यूपी में सरकार बनाने जा रही है वो भी अकेले पूर्ण बहुमत के साथ, इसके लिए बीजेपी के कार्यकर्ता व् नेता मोदी लहर को जिम्मेदार मानते हुए पीएम मोदी को धन्यवाद दे रहे हैं.