AAGAZ INDIA
TRUTH BEHIND THE NEWS

🔰 CHEGVEWARA RAGHUVANSHI 🕛 26 JUL 2020 ⚡ 845

पारिवारिक प्रेम के ढोंग के लबादे में अपनेपन के दिखावे के दहलीज पर दरकता अपनत्व

सार : हमारे व्हाट्सएप्प ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये नीचे क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी खबर के लि‍ये आगाज इंडिया न्यूज़ ऐप डाउनलोड करें।

चेग्वेवारा रघुवंशी - गुड्डू (एडवोकेट) की कलम से : आज के परिवेश मे परिवार शब्द का शाब्दिक अर्थ सिकुडकर एक पत्नी व बच्चे तक ही सिमट कर रह गया है । आखिर क्यो ? इसके पीछे आकलन का नजरिया व जरिया हम नही खोजते है ! अब सवाल आता है, ये हुआ क्यो या हो रहा तो क्यो ! जिम्मेदार कौन है ? असल मे आज के परिवेश मे हम बुनियादी, दुनियावी, सामाजिकवादी सोचो को दरकिनार कर बस अपनेवादी तक ही सीमित है, उसमे अब बंटवारा सा भी हो गया है, बेटा पिता से दूर, बेटी माता से दूर, लगभग सभी अपनत्व के रिश्ते दिखावटीपन के मुखौटो मे अपने सानिध्य के साथ अब परिवार मे लोमडी सी प्रवृत्ति के हर परिजन अपने एकांकी वर्चस्व का विस्तार व प्रलयन चाहते है, इसके इतर हर कोई अपने परिवार को बचाना भी चाहता है, जो अब महज दिखावटीपन सा ही रह गया है, एक कसमकस के बीच उलझन के साथ उधेडबुन के साथ, एक दिखावटी प्रेम के साथ, बस धन लोलुपता मे लिप्त, धनार्जन के माध्यम की तलाश के ओत-प्रोत लूटने खसोटने मे लिप्त दिखावटी प्रेम के मुस्कान को अपने चेहरे पर लबादा का रुप दिये रह गया है परिवार व उसका हर सदस्य।

varanasi news in hindi

वाराणसी न्यूज़

ऐसी खबरें अपने मोबाइल पर पाने के लिए हमारे व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ें!
JOIN WHATSAPP GROUP
पारिवारिक प्रेम के ढोंग के लबादे में अपनेपन के दिखावे के दहलीज पर दरकता अपनत्व, varanasi news in hindi, वाराणसी न्यूज़
⭐ SHARE THIS NEWS ⭐
⭐ LATEST NEWS ⭐
CHEGVEWARA RAGHUVANSHI
26/07/2020
909
1
Google News + AMP Verified