AAGAZ INDIA
TRUTH BEHIND THE NEWS

रातो-रात सुर्खियों में आई कानपुर हर्षिता है कौन? क्यों भेजती थी उसे राजकुंद्रा की कंपनी करोड़ो रुपये

SANDEEP KR SRIVASTAVA 26 Jul 2021 680

कानपुर: हॉटशॉट्स के व्हाट्सएप ग्रुप में अरविंद कुमार श्रीवास्तव नाम का एक शख्स मौजूद है, हर्षिता उसी की पत्नी बताई जा रही है।हालांकि सवाल ये उठ रहा है कि कंपनी की कमाई के करोड़ों रुपए इस अकाउंट में क्यों भेजे जा रहे थे और फिर यहां से कहां ट्रांसफर किए गए।

राज कुंद्रा पोर्नोग्राफी केस में मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच रोज नए खुलासे कर रही है. राज कुंद्रा के इस पॉर्न रैकेट के तार अब यूपी के कानपुर शहर से भी जुड़ गए हैं।
इस पूरे मामले में अब एक कानपुर की महिला का खाता भी सीज किया गया है।इस खाते में राज कुंद्रा के इस रैकेट से होने वाली कमाई के करोड़ों रुपए ट्रांसफर किए जा रहे थे।ये बैंक अकाउंट हर्षिता श्रीवास्तव नाम की एक महिला का है। इस खाते में सीज किए जाने के दौरान भी करीब दो करोड़ 32 लाख 45 हजार 222 रुपए मौजूद थे।

आखिरकार कौन हैं ये हर्षिता श्रीवास्तव?

क्राइम ब्रांच को मिली जानकारी के मुताबिक़ हॉटशॉट्स के व्हाट्सएप ग्रुप में अरविंद कुमार श्रीवास्तव नाम का एक शख्स मौजूद है, हर्षिता उसी की पत्नी हैं।अरविंद न सिर्फ हर्षिता बल्कि अपने पिता नर्वदा श्रीवास्तव के नाम से खुले बैंक अकाउंट में भी करोड़ों रुपए ट्रांसफर कर रहा था।हालांकि अरविंद एप से कमाए पैसों को अपने परिवार के अकाउंट में क्यों भेज रहा था इस बात की छानबीन की जा रही है।
सूत्रों के मुताबिक इन बैंक अकाउंट्स का ब्लैक मनी,हवाला और सट्टेबाजी के लिए इस्तेमाल किए जाने का शक है। हर्षिता और नर्बदा श्रीवास्तव के खातों में रकम आने के कुछ दिन बाद ही वह दूसरे खातों में ट्रांसफर हो जाती थी।अरविंद का भी अकाउंट सीज किया गया है,जिसमें 1.81 करोड़ रुपए मौजूद थे।

आपको बताते चले कि 6 साल पहले ही खुला था हर्षिता का पीएनबी में अकाउंट:-

ये बैंक अकाउंट बर्रा स्थित पंजाब नेशनल बैंक में हर्षिता श्रीवास्तव के नाम पर था। इस अकाउंट में सीज करते वक़्त दो करोड़ 32 लाख 45 हजार रुपए मौजूद थे।छानबीन में पता चला है कि ये अकाउंट साल 2015 में करीब 6 साल पहले खोला गया था। बीते दो साल से ही रकम का लेनदेन बढ़ा है।दूसरा खाता नर्बदा श्रीवास्तव का खाता कैंट स्थित भारतीय स्टेट बैंक में है।इस खाते में पांच लाख 59 हजार 151 रुपये जमा हैं।

आइये आपको बताते है,कि कैसे खुले ये राज:-

1:-राज कुंद्रा का ये अश्लील फिल्मों का पूरा रैकेटतीन व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए ही चलाता था।एचएस नाम के ग्रुप में कुंद्रा पैसों के लेनदेन के बारे में चर्चा करता था और अरविंद इसी ग्रुप से जुड़ा हुआ है।इसी ग्रुप से तय होता था कि पैसों का लेनदेन किस तरह से और किसके खातों में होना है।

2:-दूसरा ग्रुप एचएस टेक डाउन नाम से है। इस ग्रुप के जरिये कुंद्रा कंटेंट और कॉपीराइट पर चर्चा करता था।कोशिश होती थी कि हॉटशॉट्स पर जो पोर्न फिल्म अपलोड की जा रही है,उसका वीडियो या लिंक किसी दूसरी साइट पर न मिले।

3:-बिजनेस के लिए इस्तेमाल होने वाले तीसरे ग्रुप का नाम एचएस टेक ऑपरेशन है।इसमें अभिनेता और अभिनेत्रियों के चयन, उनकी कीमत,कहानी,लोकेशन आदि पर चर्चा होती थी।यानी तीनों ग्रुपों में सबसे महत्वपूर्ण ग्रुप पैसों के लेनदेन वाला है।इसी ग्रुप से जुड़े अरविंद कुमार श्रीवास्तव के खाते से हर्षिता और नर्बदा श्रीवास्तव के खातों में पैसा आ रहा था।

समन के बावजूद नहीं पहुंची गहना वशिष्ठ:-

राज कुंद्रा पोर्नोग्राफी केस में मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक्ट्रेस गहना वशिष्ठ और दो अन्य लोगों को तलब किया था,लेकिन वे रविवार को पूछताछ के लिए पेश नहीं हुए।अधिकारी ने कहा कि गहना वशिष्ठ और दो अन्य को क्राइम ब्रांच की प्रॉपर्टी सेल ने हाल में तलब किया था,लेकिन वे यहां रविवार को पुलिस कार्यालय में उपस्थित नहीं हुए।इससे पहले पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने मामले की जांच अपने हाथ में लेने से पहले, अश्लील फिल्मों के गिरोह के बारे में महाराष्ट्र के साइबर विभाग में एक शिकायत दर्ज कराई गई थी।

उन्होंने कहा कि मलवानी पुलिस ने दो महिलाओं की शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की थी। इसके अलावा एक अन्य महिला ने मुंबई से 120 किलोमीटर दूर लोनावला पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज कराई थी।मलवानी पुलिस थाने में फरवरी 2021 में कुछ पीड़ितों की शिकायत दर्ज होने के बाद मुंबई अपराध शाखा ने मामले की जांच शुरू की थी।अधिकारी ने बताया कि जांच के दौरान यह सामने आया कि साइबर जगत में ऐसे कई ऐप हैं जिन पर अश्लील सामग्री परोसी जाती है।उन्होंने कहा कि इसके बाद पुलिस ने निर्माता रोमा खान,उसके पति, डायरेक्टर गहना वशिष्ठ,निर्देशक तनवीर हाशमी और उमेश कामत को गिरफ्तार किया था।बाद में वशिष्ठ को जमानत मिल गई थी। पुलिस के अनुसार अब तक इस मामले में 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।बाकि और आगे की कार्यवाही मुंबई पुलिस कर रही है।विश्वस्त सूत्रों से पता चला है,कि अब ईडी भी राजकुंद्रा की संपत्ति की करेगी जांच।


रातो-रात सुर्खियों में आई कानपुर हर्षिता है कौन? क्यों भेजती थी उसे राजकुंद्रा की कंपनी करोड़ो रुपये
SANDEEP KR SRIVASTAVA
26/07/2021
335
3