जानिए भंसाली को थप्पड़ पड़ने की क्या है असली कहानी….

959

जयगढ़ में पद्मावती फिल्म की शूटिंग के दौरान मारपीट और सेट पर तोड़फोड़ के बाद डायरेक्टर संजय लीला भंसाली ने रातोरात यहां से सामान समेट लिया। इस दौरान भंसाली को थप्पड़ तक लग गया।
उन्होंने तय किया है कि वे इस फिल्म की शूटिंग राजस्थान में नहीं करेंगे। बताया जा रहा है कि वे मुंबई में ही सेट लगाकर फिल्म का निर्माण पूरा करेंगे या कोई दूसरी जगह देखेंगे। उधर, राजपूत करणी सेना के पदाधिकारियों ने शनिवार को फिर चेतावनी दी कि अगर रानी पद्मावती के इतिहास के साथ छेड़छाड़ की गई तो न तो फिल्म की शूटिंग होने देंगे और न ही पर्दे पर आने देंगे। दूसरी ओर, भंसाली के साथ हुई मारपीट से बॉलीवुड में हड़कंप मच गया है। फिल्म डायरेक्टर, अभिनेता व अभिनेत्रियां करणी सेना के पदाधिकारियों द्वारा की गई बदसलूकी पर ट्वीट करके भड़ास निकाल रहे हैं। राजपूत इतिहास के हवाले से बता रहे असल कहानी…
.
– रानी पद्मावती को पद्मिनी के नाम से भी जाना जाता था। वे चित्तौड़गढ़ की रानी थी।
– कहा जाता है कि खिलजी वंश का शासक अलाउद्दीन खिलजी पद्मावती को पाना चाहता था।
– रानी को जब ये पता चला तो उन्होंने कई अन्य राजपूत महिलाओं के साथ जौहर कर लिया।
…और संजय अपनी फिल्म में दिखा रहे हैं ये लीला
– बताया जा रहा है कि फिल्म की कहानी खिलजी और पद्मावती को केंद्र में रखकर बुनी गई है।
– रानी पद्मावती को अलाउद्‌दीन खिलजी की प्रेमिका बताया जा रहा है।
– उसके सपने में पद्मावती के साथ प्रेम-प्रसंग के दृश्यों को फिल्माने की बात सामने आ रही है।
करणी सेना व राजपूत सभा के पदाधिकारियों ने दी चेतावनी
– राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष महिपाल मकराना और राजपूत सभा के अध्यक्ष गिर्राज सिंह लोटवाड़ा ने शनिवार को मीडिया से कहा कि अगर इतिहास और परंपराओं के साथ छेड़छाड़ होगी तो इसका अंजाम अच्छा नहीं होगा। – पदाधिकारियों ने कहा कि रानी पद्मिनी हमारा गौरव हैं। उन्होंने अलाउद्दीन के पास जाने के बजाय जौहर (आग में कूदना) करने को बेहतर समझा। फिल्म में उन्हें अलाउद्‌दीन की प्रेमिका बताया जा रहा है, जो सरासर गलत है।
– हम राजपूतों की धरती पर अपने पूर्वजों को लेकर दिखाई जा रही अश्लीलता को बर्दाश्त नहीं करेंगे।
– करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा कि दीपिका-रणवीर के रिलेशन कुछ भी हों लेकिन इस फिल्म में उन्हें प्रेमी-प्रेमिका के रूप में नहीं दिखाया जाना चाहिए।
– अलाउद्दीन-पद्मिनी के लव सीन को नहीं फिल्माया जाना चाहिए। फिल्म बनाने का विरोध करने के लिए करणी सेना के पदाधिकारियों ने राजपूत समाज के अन्य संगठनों व बाहरी राज्यों में संपर्क किया है।
भंसाली को पत्र लिख कहा था इतिहास से छेड़छाड़ ना करें
– हंगामे के बाद गुजरात व हैदराबाद से राजपूत संगठनों के पदाधिकारी जयपुर भी पहुंच गए।
– करणी सेना के पदाधिकारियों ने बताया कि फिल्म में शूट किए जाने वाले दृश्यों को लेकर संजय लीला भंसाली से बात करने का प्रयास किया। लेकिन वे बात करने को ही तैयार नहीं हुए।
– करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा कि सितंबर माह में जब मीडिया में पद्मावती फिल्म बनाए जाने की खबर आई और उसमें रणबीर सिंह व दीपिका पादुकोण लीड रोल में है।
– फिल्म में पद्मावती के साथ खिलजी के प्रेम-प्रसंग के दृश्यों पर शूटिंग की जाने की बात सामने आई थी।
– इस संबंध में सितंबर माह में संजय लीला भंसाली को सितंबर माह में पत्र लिखकर कहा था कि रानी पद्मनी के इतिहास के साथ छेड़छाड़ नहीं किया जाए। लेकिन वहां से कोई जवाब नहीं मिला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here