एक रोटी और चीनी के इस उपाय से चमकेगी किस्मत, आज करें तो सुलझेगी आपकी हर समस्या

1517

शास्त्रों में कहा गया है कि सच्चे मन से किया गया एक रूपए का दान भी भाग्य बदल देता है। वैदिक ज्योतिष तथा लाल किताब में इस मान्यता के आधार पर कई प्रकार के उपाय बताए गए हैं जिन्हें करने से आप अपनी सारी समस्याओं से मुक्त हो सकते हैं। जरूरत है तो केवल सच्चे मन से इन उपायों को करने की। आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही उपायों के बारे में

अच्छे दिन लाने का उपाय

श्राद्ध पक्ष में रोज सुबह एक रोटी अपने पितरों के नाम से निकाल कर सुबह के समय किसी गाय को खिला दें। इस उपाय का तुरंत असर होता है और देखते ही देखते आपके बुरे दिन दूर होकर धन, सुख, संपत्ति की प्राप्ति होती है।

अगर आटे में पिसी हुई चीनी मिलाकर रोज चींटियों के बिल पर डालें तो बड़ी से बड़ी समस्या भी चुटकी बजाते ही दूर हो जाती है। इस उपाय को खास राहू के लिए इस्तेमाल किया जाता है। उस उपाय से राहू अपनी पूरी शक्ति के साथ आपकी मदद करता है और आपके बड़े से बड़े दुर्भाग्य को भी सौभाग्य में बदल देता है।

.

नौकरी तथा व्यापार में वृद्धि के लिए

अगर आपके व्यापार में मंदी आ गई या नौकरी में परेशानी आ रही है तो यह उपाय सबसे अच्छा उपाय है। किसी साफ़ शीशी में सरसों का तेल भरकर उस शीशी को किसी बहती नदी के जल में डाल दें। इसके बाद मन ही मन इस प्रकार प्रार्थना करें कि हे ईश्वर मेरी आर्थिंक उन्नति के मार्ग की सभी बाधाओं को दूर करके धनागमन का रास्ता खोल दें। शीघ्र ही मंदी का असर जाता रहेगा और आपके व्यापार में जान आ जाएगी। और धन के आगमन की गति में वृद्धि हो जायगी।

व्यापार दिन दूना रात चौगुना बढ़ाने के लिए

अगर आपका व्यापार अच्छा नहीं चल रहा है तो सबसे अच्छा उपाय है कि बुधवार के दिन एक तोता पिंजरे सहित खरीद कर लाएं तथा उस तोते को किसी खुले स्थान पर आजाद कर दें। तोता उड़कर जितनी दूर जाएगा, उतना ही आपके व्यापार में मुनाफा बढ़ेगा। इस उपाय को आप एक बार से ज्यादा बार भी कर सकते हैं।

असाध्य बीमारी दूर करने के लिए

अगर घर में कोई बहुत ज्यादा बीमार रहता हो या उस पर दवाईयों का असर नहीं हो रहा है तो इसके लिए लाल किताब में एक उपाय बताया गया है। इस उपाय में रात को एक रुपए का सिक्का सिरहाने के नीचे रखकर सो जाएं। सुबह उठकर उस सिक्के को श्मशान में फेंक दें और बिना पीछे मुडकर देखें वापस आ जाएं। जल्दी ही बीमारी खत्म होनी शुरु हो जाएगी।

Comments are closed.