शारीरिक संबंध नहीं बनाया तो दे दिया तलाक, देखें फिर आगे क्या हुआ

914

.तीन तलाक पर मुस्लिम महिलाओं को योगी और मोदी सरकार ने नई उम्मीद जगा दी है. पिछले दो दिन में बरेली और कानपुर में तीन तलाक के मुद्दे सामने आए तो पीड़ित महिलाओं ने सीधे पीएम औऱ सीएम से गुहार लगा डाली.

बरेली में 24 घंटे के अंदर तीन तलाक़ के तीन सनसनीखेज मामले सामने आए हैं. तो कानपुर में एक शख्स ने शादी के पांच महीने बाद ही अपनी पत्नी को तलाक दे दिया. अब इन सभी के परिवार वालों ने सीएम योगी औऱ पीएम मोदी से इंसाफ की गुहार लगाई है. ये महिलाएं लखनऊ में यूपी की महिला कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी से भी मिलीं.
कानपुर की आलिया सिद्दीकी की तो पांच महीने पहले ही बिजनौर में तैनात असिस्टेंट लेबर कमिशनर नासिर के साथ शादी हुई थी. शादी के बाद नासिर अपनी पत्नी को घर ना ले जा कर होटल ले गया पत्नी ने जब ससुराल चलने को कहा नासिर 25 लाख रूपए दहेज़ की मांग करने लगा. लड़की के घर वालो ने जब देने से मना किया तो पति ने स्पीड पोस्ट से तलाक की चिट्ठी भेज दी.
तीन तलाक की पीड़ित महिलाओ ने पीएम मोदी और सीएम योगी से मुश्लिम पर्सनल लॉ में दखल देने की अपील की है. तीन तलाक का मामला सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ में है. इस केस को लेकर 11 मई से सुनवाई होने वाली है।