यूपी वालो, अब तुम्हारी बारी है – महिलाओं की आबरू से खिलवाड़ करने वालो से लो चुनाव में हिसाब

2290

उत्तर प्रदेश में पिछले 5 साल में कुछ काम बहुत धड़ल्ले से हुए

.

* मस्जिदों हज हाउस का निर्माण धड़ल्ले से किया गया, मंदिरों को लगभग हर जिले में साफ़ सफाई के नाम पर तोडा गया

* हिन्दुओ के खिलाफ बड़े पैमाने पर दंगे हुए, और हिन्दू युवकों पर अनेकों झूठे केस बनाकर उनको जेलों में बंद किया गया, अजीज कुरैशी के कहने पर अखिलेश ने तो मुस्लिम को यूपी पुलिस का प्रमुख बना दिया

* गौहत्या का कारोबार वो भी खासकर पश्चिमी यूपी में खूब चला

* जिहादियों और सपाई गुंडों को नेताओं और पुलिस द्वारा पूरा संरक्षण और छूट दिया गया

* यूपी में हिन्दू महिलाओ का बड़े पैमाने पर शोषण हुआ, हिन्दू महिलाओ का बड़े पैमाने पर नंबर यहाँ वहां बाँटा गया, यहाँ तक की बलात्कार के विडियो तक बेचने का यूपी में कारोबार हुआ

* यूपी का ये हाल हो गया की, पुरे ही प्रदेश में और जहाँ पर कट्टरपंथियों की तादात अधिक है वहां तो और अधिक
हिन्दू महिलाओं का शोषण हुआ, ऊपर वाली तस्वीर में महिला की स्तिथि देखिये, ये महिला याद ही होगी आपको

पति और बेटी के साथ ये बाहर किसी काम से आयी थी, जिहादी सपाई गुंडों ने इसे दबोचना शुरू कर दिया
पति को बुरी तरह मारा, ये आप सभी ने देखा

* इन सपाई जिहादी गुंडों की दहशत का ये आलम रहा की, पश्चिमी यूपी और लगभग पुरे यूपी में
माँ बाप ने बच्चियों को कॉलेज तो क्या स्कुल भेजना भी बंद करना शुरू कर दिया

* मुज़फ्फरनगर का जो दंगा हुआ था वो भी हिन्दू लड़की की अस्मत से खिलवाड़ और छेड़छाड़ के बाद ही हुआ था, पश्चिमी यूपी में तो ये आम सी बात हो चुकी है

इतना सब हो जाने के बाबजूद बड़ी ही बेशर्मी से अखिलेश यादव बोलते है की, “काम बोलता है”
इनके खुद के विधायक अरुण वर्मा पर महिला ने रेप का आरोप लगाया, तो उस महिला का क़त्ल ही कर दिया गया

अब यूपी वालो से हमारी तो एक ही गुजारिश है की, उनका 1 गलत वोट उनके ही भविष्य को बर्बाद करेगा
और अब गेंद लोगों के पाले में है, अब चुनाव है, और अखिलेश यादव से हिन्दू महिलाओ की आबरू से जितने भी खिलवाड़ किये गए, उसका हिसाब तो जनता जरूर ही ले