AAGAZ INDIA NEWS logo

गली मुहल्ले चौराहों की धूल फांकता हुआ पत्रकार, बन रहा अपराधियों का शिकार

AAKASH TIWARI 28/07/2020 94


SHARE ON WHATSAPP

ऑनलाइन अपराध के रोकथाम में निष्प्रभावी कानून व्यवस्था के चलते पत्रकारों को मेहनत करने के बाद इस प्रकार की घटना का साक्षी बनना पड़ रहा है। दुर्गेश कुमार सिंह जो कि एक समाचार एजेंसी में कार्यरत है उनको आज ऑनलाइन ठगों ने मोबाइल बेचने का झांसा देकर ठगा और अपना शिकार बनाया। कुछ दिनों पहले मुरादाबाद में एक पत्रकार को दिनदहाड़े गोली मारने का मामला प्रकाश में आया था और दिनांक 26/7/2020 को जैतपुरा थाना अंतर्गत एक ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल में कार्यरत पत्रकार को जान से मारने की धमकी एवं रंगदारी माँगने का मामला भी प्रकाश में आया था। इन मामलों से स्पष्ट होता है कि अपराधीयों को पत्रकारों को प्रताड़ित करने का कतई भी भय नहीं रहा, पत्रकारों के प्रति सरकार की कोई नैतिक जिम्मेदारी नहीं बन रही है। वहीं इस प्रकार के अपराध के लिए अपराधी सबसे पहले पत्रकारों को ही अपना निशाना बना रहे हैं।

उक्त पत्रकार को एक ऑनलाइन वेबसाइट के जरिए ठगी का शिकार बनाया गया उन्हें ओएलएक्स पर फोन आर्डर किया तो ओएलएक्स के सेलर ने 8000 रूपये बतौर सिक्योरिटी मनी जमा करने की बात कही, जिसपे उसे पेमेंट जमा किया गया। जिसके बाद अब उक्त व्यक्ति द्वारा पैसा वापस न करने की बात की जा रही है। खैर सरकार को अब अपने कानून मे संसोधन करने की आवश्यकता है। ताकि इस तरह के ऑनलाइन अपराध पर रोक लग सके और पत्रकारों के लिए विशेष कानून बनाया जाए जिससे समाज का आईना और संविधान का चौथे स्तम्भ कहे जाने वाले पत्रकारिता की रक्षा और सुरक्षा हो सके।

DOWNLOAD OUR APP


1वह अक्सर कहता एक घर बनाऊंगा तेरे घर के सामने, उसी प्रेमी की चिता जली अपने प्रेमिका के दरवाजे के आगे
2रातो-रात सुर्खियों में आई कानपुर हर्षिता है कौन? क्यों भेजती थी उसे राजकुंद्रा की कंपनी करोड़ो रुपये
3वाराणसी : किराए पर उठा पूरा रामनगर पुलिस थाना, टंग गया शास्त्री नगर नवीनपुर थाने का बोर्ड
4लखनऊ : अमित शाह बनकर नेताओ को मंत्री बनाने का झांसा देकर करोड़ों लूटने वाले चढ़े क्राइम ब्रांच के हत्थे
5माँ ने चलती ट्रेन से बच्चे को बाहर फेंका, पिता ने ऐसे बचाई बच्चे जान...

SHARE ON WHATSAPP SHARE ON FACEBOOK READ MORE NEWS JOIN US


AAKASH TIWARI
28/07/2020
391
1