AAGAZ INDIA NEWS logo

वाराणसी में सिलेंडर फटा, उलझी गुत्‍थी को सुलझाने जांच में जुटी फॉरेन्‍सिक टीम

CHIEF EDITOR 24/10/2018 15


SHARE ON WHATSAPP

वाराणसी-मंडुआडीह थाना क्षेत्र के लहरतारा रेलवे क्रासिंग के पास स्थित एक मकान में तेज धमाके के साथ दो मंजिला मकान का पहला तल जमींदोज हो गया। ब्लास्ट के बाद मकान गिरने से फिलहाल एक की मौत हो गई है, जबकि आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। जिनका उपचार मंडलीय अस्पताल कबीर चौरा और बीएचयू के ट्रामा सेंटर में चल रहा है।

संदिग्ध परिस्थितियों में हुए धमाके के पीछे पुलिस सिलेंडर ब्लास्ट मानकर जांच में जुट गई है, वहीं बारूद से ब्लास्ट होने की आशंका से इंकार भी नहीं कर रही है। इधर घायलों के इलाज के दौरान चिकित्सको ने बर्न इंजरी में बारूद की आंशंका भी जताई है। फिलहाल ब्लास्ट के पीछे एक बड़ी वजह मकान में चल रहे अवैध पटाखा फैक्ट्री को माना जा रहा है।

अभी दीपावली और आतिशबाजी का समय क्या आया कि फिजाओं में धमाके गूंजने लगे हैं। वाराणसी में भी ऐसा तभी हुआ जब शहर के मंडुआडीह थाना क्षेत्र के लहरतारा रेलवे क्रासिंग के पास स्थित एक मकान में तेज धमाके के साथ दो मंजिला मकान का पहला तल जमींदोज हो गया। ब्लास्ट के बाद मकान गिरने से फिलहाल एक की मौत हो गई है, जबकि आधा दर्जन से ज्यादा घायल हो गए हैं।

घटना के बाद ही स्थनीय लोगो, NDRF और पुलिस की मदद से रेस्क्यू चलाया गया। बताया जाता हैं कि मकान तारा देवी का है और उनके बेटे कुनाल कुमार, उसकी बीवी शालू और बेटी विधि के अलावा तारा देवी का छोटा बेटा रिंकू भी इस मकान में रहता है।

इस पूरी घटना में घायल हुई तारा देवी की बेटी सुनीता जो लखनऊ अपने ससुराल से दो बच्चे तन्मय और चिंकी के साथ कल ही आई थीं, ने बताया कि जब धमाका हुआ तो उसकी भाभी रसोई में चाय बनाने गई थी, उसके बाद क्या हुआ ये नही मालूम। भाई द्वारा घर से ही आतिशबाजी के कारोबार को करने की बात से भी सुनीता अनजान बनी रही।

मंडलीय चिकित्सालय के सीएमएस बीएन श्रीवास्तव ने बताया कि तीन लोग यहां लाये गए हैं, जिसमे से एक की मौत हो गयी है। वहीं जब उनसे पूछा गया कि क्या पटाखे के धमाके से ऐसा हुआ है, तो उन्होंने कहा कि मौत कैसे हुई या हादसा कैसे हुआ ये पोस्टमार्टम और फारेंसिक रिपोर्ट आने के बाद क्लियर होगा। जो व्यक्ति मरा है उसके कपड़ों से बारूद की स्मेल आ रही थी। डॉक्‍टर के अनुसार सामान्य थर्मल बर्न और बारूद से हुए बर्न की इंज्यरी में फर्क होता है।
वहीं आसपास के लोगों ने भी मकान में चल रहे पटाका के कारोबार की बात स्‍वीकार की है।

घटना के बाद जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने घटनस्‍थल का निरीक्षण किया और कहा कि रसोई गैस सिलेंडर की वजह से यह धमाका हुआ है। उन्होंने बारूद और पटाखे फैक्ट्री के सवाल पर कहा कि यह सब जांच का विषय है। वहीं इस पूरे प्रकरण पर आईजी रेंज विजय सिंह मीणा ने बताया कि ब्लास्ट प्रथम दृष्टया सिलेंडर ब्लास्ट की वजह से हुआ है। इसके अलावा बाकी चीज़ों के लिए फारेंसिक टीम पहुंची है, उसने अपनी जांच की है उनकी जांच रिपोर्ट में जो तथ्य सामने आएगा उस्पार भी जांच की जाएगी।

फिलहाल पुलिस ने प्रारंभिक जांच के अनुसार सिलेंडर ब्लास्ट की बात बताई है और आतिशबाजी के ब्लास्ट से भी इंकार न करते हुए गहनता से जांच की बात कह रही है। वहीं जिलाधिकारी ने भी बारूद की वजह से ब्लास्ट के सवाल पर जांच की बात कही है। इसके बाद अब मौके पर फोरेंसिक टीम पहुँचकर ब्लास्ट के असल कारणों का पता लगाने में जुट गई है

DOWNLOAD OUR APP


1वाराणसी : जनपद में शुरू हुआ कोरोना टीकाकरण का दूसरा चरण, पीएम करेंगे पूर्व लाभार्थियों से बातचीत
2वाराणसी: रामनगर/ट्रक से कुचलकर एक अज्ञात व्यक्ति की मौत,चालक ट्रक समेत फरार
3जौनपुर : पूर्व राज्यपाल और यूपी के मंत्री रह चूके माता प्रसाद का निधन, लंबे समय से चल रहे थे बीमार
4मिर्जापुर : डेढ़ दर्जन लोगों को लिए नाव गंगा में पलटी, पानी कम होने की वजह से बड़ी घटना टली
5रामनगर : महज 17 मिनट में 43 करोड़ 77 लाख 58 हजार 669 रुपये का बजट पास, 2 सभासदों ने किया विरोध

SHARE ON WHATSAPP SHARE ON FACEBOOK READ MORE NEWS JOIN US


CHIEF EDITOR
24/10/2018
69
1