AAGAZ INDIA NEWS logo

जौनपुर : बुजुर्ग महिला पर दारोगा जी ने गालियों की कर दी बौझार, पुलिस कप्तान ने किया बर्खास्त

SANDEEP KR SRIVASTAVA 11/12/2020 994


SHARE ON WHATSAPP

जौनपुर: जहां थानों में महिला हेल्प डेस्क का उद्धघाटन किया जा रहा है और महिलायों के लिए अलग से कानून बनाया जा रहा है.

वही योगी राज में भी पुलिस अपने बुरे कारनामों के कारण चर्चा में बनी रहती है. अपराधी भागने वाला ही होता है कि खाकी वर्दी की छठी इंद्री जागृत हो जाती और अचूक निशाना लगाकर पुलिस अपराधी को धूल चटा देती है.
ये अलग बात है कि जब अधिकारीयो के सामने असलहों को लोड करने और दौड़ लगाने की बारी आती है तो दारोगा जी लोग फिस्सडी नजर आते हैं, बहुत कम पुलिस वाले ही खुद को फिट रखे हुए है.
आधे से भी ज्यादा दारोगा साहब लोगो की मोटी तोंद बता देती है कि दारोगा साहब कितनी मेहनत करते है.

जनप्रतिनिधियों और समाज के सभ्य लोगों के आगे सलामी ठोकने वाली और अधिकारियों की दिन रात जी हजूरी करने वाली यूपी पुलिस आम जनता को गालियों से सुशोभित करती है.

जी हां कुछ ऐसा ही एक मामला सिकरारा थाना क्षेत्र के ताहिरपुर गांव में देखने को मिला.
जहां दारोगा जी ने अपने सामने बुजुर्ग महिला को देखते ही गालियों की बौछार कर दी. गालियों की ऐसी रफ्तार मानो दारोगा जी गिनीज वर्ल्ड बुक में रिकॉर्डतोड़ गालियां देने के लिए अपना नाम दर्ज करवाना चाहते हो.
दारोगा साहब ने एक बार भी महिला के उम्र का भी लिहाज नही किया, और ये भी नही सोचा कि वो महिला उनके माँ की उम्र की है.

इसमें कोई दो मत नहीं कि पुलिस की कार्यशैली में ऐसी गाली को रूटीन भाषा का हिस्सा माना गया है.
बहादुर दारोगा राकेश तिवारी ने बुजुर्ग महिला को एक के बाद गालियां देते हुए मुकदमा दर्ज करने की बात कही.
मामला यहीं नहीं रुका,आवेश में आकर जबांज दारोगा ने यह भी कहा कि घर जमीन बेच कर भी मुकदमें से बाहर नहीं निकल पाओगी तुमको ऐसा केस में फ़साउंगा.

दारोगा जी की यह करतूत कैमरे में रिकॉर्ड हो गयी.वरना हर अधिकारी सफाई देते फिरते की गलती पुलिस की नही उक्त महिला की है.

वायरल वीडियो को संज्ञान में लेते हुए पुलिस अधीक्षक ने दारोगा राकेश तिवारी और उनके साथ मौजूद सिपाही शमशेर सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया.

लेकिन ये कोई नई बात नही है, अगर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महिलायों के सुरक्षा की बात करते है, तो उनको ऐसा कानून लाना चाहिए जहां पर ऐसी गलतियों पर सिर्फ सस्पेंड कर देना ही न रहे. बल्कि ऐसा हो कि जो भी इस तरह की हरकत करे उसपर विधिवत एफआईआर दर्ज हो और उसकी नौकरी भी जाये. ताकि कोई पुलिस वाला किसी भी नागरिक के साथ बदसलूकी करने से पहले सौ बार सोचे. और ये कानून एक नजीर बने..

DOWNLOAD OUR APP


1वाराणसी:भाजपा विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने आदित्यनगर कुंड के सौंदर्यीकरण व अन्य कार्यो का किया निरीक्षण
2वाराणसी:रामनगर/अंतर्जनपदीय चोर गिरोह का पर्दाफाश,अवैध असलहा और चोरी के समान के साथ 2 आरोपी गिरफ्तार
3वाराणसी: रामनगर/ट्रक की टक्कर से एक व्यक्ति की मौत,मृतक व्यक्ति सोनभद्र जिले का था निवासी
4वाराणसी: रामनगर पुलिस के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, चोरी की LED बाईक और मोबाईल के साथ 2 शातिर चोर गिरफ्तार
5वाराणसी: कोवि‍ड सेफ जोन में आया बनारस, यूपी सरकार की गाइडलाइन्स के अनुसार अब अनलॉक होगी काशी

SHARE ON WHATSAPP SHARE ON FACEBOOK READ MORE NEWS JOIN US


SANDEEP KR SRIVASTAVA
11/12/2020
501
1