AAGAZ INDIA NEWS logo

कप्तान साहब के आदेश का पालन करना पड़ा कांस्टेबल को महंगा, थानाध्यक्ष ने किया ट्रांसफर

MANOJ SINGH 12/12/2020 5192


SHARE ON WHATSAPP

वाराणसी : जनपद के तेजतर्रार पुलिस कप्तान श्री अमित पाठक के निर्देशन में जनपद वाराणसी की पुलिस एक्शन मोड मे आ चुकी है और अपराधीयों के हौसले पूरी तरह से पस्त हो चुके हैं। सभी ओर एसएसपी साहब के इस विशिष्ट कार्यशैली को लेकर चर्चाओं का माहौल है, लोगों का पुलिस पर वापस से विश्वास कायम हो रहा है। जहां जनता का पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ रहा है वहीं दूसरी ओर वाराणसी पुलिस भी अपने कप्तान के आदेशों का शत प्रतिशत पालन कराने और तत्परता दिखा रही है। पुलिस अपराधियों के खिलाफ लगातार अभियान चला रही है, जिससे अपराधी धराशाई हो चुके हैं।

इन सब के बीच कल एक मामला ऐसा हुआ जिससे पुलिस विभाग के निचले क्रम के कर्मचारियों का मनोबल टूट गया। मामला अखरी चौकी अंतर्गत पिकेट का है जहां तैनात आरक्षी अजय कुमार तिवारी ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आदेशों का पालन करते हुए शहर में एंट्री करते हुए एक ट्रक को रोका जिसके आगे एक सिपाही खुद उस ट्रक को हर पुलिस पिकेट से पास कराता हुआ डाला (सोनभद्र) से आ रहा था। उसके अनुसार यह ट्रक में लोड बालू रामनगर थाना अंतर्गत पड़ने वाली भीटी चौकी इंचार्ज की है जो उनके भवन निर्माण हेतु जा रही है। उक्त ट्रक के पास न तो कोई पास था न ही वैध दस्तावेज़ जिसके बाद उक्त ट्रक को आरक्षी अजय कुमार तिवारी द्वारा रोक दिया गया और मोहनसराय मार्ग से जाने हेतु कहा गया। जिसके बाद उक्त ट्रक के साथ आए सिपाही ने भीटी चौकी इंचार्ज को फोन कर के सारी जानकारी दी जिसके 5 मिनट बाद थानाध्यक्ष रोहनिया ने आरक्षी अजय कुमार तिवारी के मोबाइल पर फोन कर उक्त गाड़ी को जाने का आदेश दिया। आरक्षी द्वारा उक्त आदेश का पालन यह करते हुए किया गया की सर नो एंट्री नहीं खुली है और इसके पास कोई भी वैध पास एवं दस्तावेज़ नहीं हैं। जिसके बाद गुस्साए थानाध्यक्ष रोहनिया ने उक्त आरक्षी का ट्रांसफर अन्य चौकी पर कर आमद कराने का फरमान जारी कर दिया।

ऐसे में यह समझना मुश्किल है की पुलिस विभाग के निचले क्रम का कर्मचारी करे तो क्या करे, एक तरफ उसे अपने अधिकारियों के आदेश का पालन भी करना है और दूसरी तरफ अपनी नौकरी भी बचानी है। वहीं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री अमित पाठक द्वारा अवैध रूप (बिना पास) के आने वाले ट्रकों पर कार्यवाही करने के लिए कड़ा आदेश जारी है, जिसमें कोई भी ट्रक जिसके पास वैध पास उपलब्ध नहीं होगा उसे आगे नहीं जाने दिया जाएगा। ऐसे में एक पुलिसकर्मी अगर अपने कप्तान के आदेशो का पालन करना भी चाहे तो कैसे करे।

ऐसे में एक और बात सामने आती है की कैसे एक चौकी इंचार्ज पहले तो अवैध रूप से ट्रक को शहर में ले आता है और कैसे जनता के लिए लगे पुलिसकर्मी को अपने व्यक्तिगत कार्य हेतु उपयोग करता है जैसा की इस मामले में भीटी चौकी इंचार्ज द्वारा एक पुलिसकर्मी को सकुशल उक्त ट्रक को उसके भवन निर्माण कार्य तक पहुचाने के कार्य में लगा दिया गया। ऐसे में देखने वाली बात यह होगी की वाराणसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इस मामले में क्या कार्यवाही करते हैं।

DOWNLOAD OUR APP


1वाराणसी : मुंशी घाट के सामने गंगा में कूद कर महिला ने की आत्महत्या, होटल के कमरे से सुसाइड नोट बरामद
2वाराणसी : एसएसपी वाराणसी ने 81 उपनिरीक्षकों का किया तबादला, उ0नि0 अरविंद यादव का ट्रांसफर रामनगर से फुलपुर थाना
3वाराणसी : रामनगर पुलिस के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, 2 किलो 800 ग्राम अवैध गांजा के साथ 2 तस्कर गिरफ्तार
4वाराणसी : रामनगर पुलिस ने हत्या करने के प्रयास के आरोपी को टेंगरा मोड़ के पास से किया गिफ्तार
5वाराणसी : डीएम कौशल राज शर्मा ने दिया आदेश, प्रातः 9 से रात्रि 9 बजे तक ही खुलेंगी दुकानें व प्रतिष्ठान

SHARE ON WHATSAPP SHARE ON FACEBOOK READ MORE NEWS JOIN US


MANOJ SINGH
12/12/2020
838
2