AAGAZ INDIA NEWS logo

भदोही: 7 पुलिसकर्मी हुये बर्ख़ास्त, इंस्पेक्टर समेत 5 पर हुआ एफआईआर

SANDEEP KR SRIVASTAVA 03/01/2021 668


SHARE ON WHATSAPP

भदोही: कोइरौना थाने में दो जनवरी को सात पुलिसकर्मियों को निलंबित और पांच पुलिसकर्मियों पर मुकदमा दर्ज किए जाने के मामले में गिरफ्तारी नहीं होगी। मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह ने बताया कि क्राइम के आधार पर जमानतीय धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस कार्यवाही की जा रही है।

आइये आपको पूरे घटनाक्रम से परिचित करवाते है, दरसल हुआ कुछ यूं था कि चालीस बंधुआ मजदूरों को मुक्त कराने व ट्रक चालक के विरुद्ध झूठा मुकदमा दर्ज करने के आरोप में वाराणसी के अपर पुलिस अधीक्षक अनुराग दर्शन को जांच करने के लिए सौपा गया तक।उनके जांच आख्या के आधार पर दो जनवरी को को थाना कोईरौना के तत्कालीन थाना प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार राय, उप निरीक्षक रामाशीष,आरक्षी रविंद्र कुमार, आरक्षी प्रदीप कुमार तथा आरक्षी विष्णु सरोज थाना कोईरौना जनपद भदोही को झूठा अभियोग पंजीकृत कराने के कारण इनके विरुद्ध धारा 167, 182, 220 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। तथा पाँच पुलिसकर्मियों को निलंबित भी कर दिया गया है। उप निरीक्षक आद्या प्रसाद यादव तथा उप निरीक्षक नेमतुल्लाह खां को विवेचना में लापरवाही, शिथिलता, तथा उदासीनता बरतने तथा अभियोग पंजीकरण के बाद सही तथ्य को जानने के लिए कोई साक्ष्य संकलन न करने के कारण निलंबित कर दिया गया।

सूत्रो के हवाले से गत वर्ष 12 जुलाई को थाना कोइरौना के तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार राय के पर्यवेक्षण में उप निरीक्षक श्री राम आशीष मय हमराही पुलिस आरक्षी रविंद्र कुमार, आरक्षी प्रदीप कुमार तथा आरक्षी विष्णु सरोज द्वारा 40 बंधुआ मजदूरों को अवमुक्त कराया गया था। तथा ट्रक चालक का चालान कर ट्रक नंबर डभ् 15 ळट 6324 को सीज करते हुए ट्रक चालक के विरुद्ध थाना कोईरौना पर मुअ.सं. 101ध्2020 धारा 370 (5) भादवि. का अभियोग झूठे तथ्यों के आधार पर पंजीकृत कराया गया था। जिसकी विवेचना उप निरीक्षक आद्या प्रसाद यादव तथा उप निरीक्षक नेमतुल्लाह खान द्वारा की गई थी। विवेचना में विवेचकों द्वारा सही तथ्यों को उजागर न करते हुए वादी मुकदमा के पक्ष में लापरवाही पूर्ण विवेचना की गई। जिसके कारण दोनों उप निरीक्षकों को निलंबित कर उनके विरुद्ध प्रारंभिक जांच की कार्रवाई की जा रही है। साथ ही झूठे तथ्यों के आधार पर मुकदमा पंजीकृत करने के कारण उप निरीक्षक रामाशीष, आरक्षी रविंद्र कुमार, आरक्षी विष्णु सरोज, आरक्षी प्रदीप कुमार व गलत पर्यवेक्षण के कारण तत्कालीन थाना प्रभारी संजय कुमार राय के विरुद्ध मुकदमा अपराध संख्या 01/2021 धारा 167, 182, 220 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

इस कार्यवाही से पुलिस महकमें में हड़कंप मचा हुआ है।तो वही दूसरी ओर इंसाफ़ के प्रति विश्वास बढ़ सा गया है।



DOWNLOAD OUR APP


1वह अक्सर कहता एक घर बनाऊंगा तेरे घर के सामने, उसी प्रेमी की चिता जली अपने प्रेमिका के दरवाजे के आगे
2रातो-रात सुर्खियों में आई कानपुर हर्षिता है कौन? क्यों भेजती थी उसे राजकुंद्रा की कंपनी करोड़ो रुपये
3वाराणसी : किराए पर उठा पूरा रामनगर पुलिस थाना, टंग गया शास्त्री नगर नवीनपुर थाने का बोर्ड
4लखनऊ : अमित शाह बनकर नेताओ को मंत्री बनाने का झांसा देकर करोड़ों लूटने वाले चढ़े क्राइम ब्रांच के हत्थे
5माँ ने चलती ट्रेन से बच्चे को बाहर फेंका, पिता ने ऐसे बचाई बच्चे जान...

SHARE ON WHATSAPP SHARE ON FACEBOOK READ MORE NEWS JOIN US


SANDEEP KR SRIVASTAVA
03/01/2021
326
1